दोस्ती : #BlogchatterA2Z

d

Top post on IndiBlogger, the biggest community of Indian Bloggers

               Dदोस्तों ने मुझे जीवन में कई बार सम्भाला है | खुशी हो या ग़म, कोई भी पल दोस्तों के बिना ख़ास नहीं बन सकता | मैं बहुत खुशकिस्मत रहा हूँ कि जीवन के हर मोड़ पर मुझे बेहतरीन दोस्तों का साथ मिला है | ये वो एहसास है है जिसे चन्द लफ़्ज़ों में कह पाना मुश्किल है लेकिन अगर मैं अपने दोस्तों की शान में कुछ न कहूँ को मेरा लिखना ही जैसे व्यर्थ होगा…

कहते  हैं, अच्छे  दोस्त  यूँ  ही  नहीं  मिला  करते,

पर  उसने  ये  दामन, कुछ  इस  तरह  सजाया  है ,

के  हर  मोड़  पर  मिले  नायाब  दोस्त,

और  हर  एक  में  जैसे,  वो  ख़ुद  ही  समाया  है,

थामा  है  इन्होंने  काँपते  मेरे  हाथों  को,

और  ग़म  में  भी  हँसना  सिखाया  है,

हों  ख़ुशियों  के  उजाले, या   गमगीन  अंधेरी  रात,

मुस्कान  ने  इनकी, हर  पल  साथ  निभाया  है,

के  साहिलों  के  एकांत  से  गुफ्तगू  की  कभी ,

तो  कभी  यारों  संग,  मझधार  में  भी  घर  बनाया  है,

न  कस्में  हैं न वादे  हैं, क्या  ख़ूबसूरत  ये  रिश्ता  बनाया  है,

के लहू से  न सही,  पर  उसने  दिल से  हमें मिलाया  है,

सदके  जाऊं  इन  यारों  की  यारी  पे,

जिन्होनें  काली  घटाओं  को  भी , इंद्रधनुष सा  सजाया  है,

इंद्रधनुष सा सजाया है ||

♥ ♥ ♥                           -doc2poet 

IMG_20160806_152031

क्या आपका भी कोई ऐसा दोस्त है जिसके साथ आप ये कविता बाँटना चाहेंगे  ?

The  fun, laughter  and  small  talks,

The  road  trips  and  late  night  walks,

You  gave  meaning  to  everything  I  knew,

Rejuvenated  my  life,

Wanting  nothing  in  lieu,

With  you, my  life  is  like  a  grand  fest,

You  are  my  buddies, you  are  the  best…

♥ ♥ ♥                           -doc2poet 

अगर आपको मेरी कविताएँ पसन्द आयें तो मेरी पुस्तक “मन-मन्थन : एक काव्य संग्रह” ज़रूर पढ़ें| मुझे आपके प्यार का इन्तेज़ार रहेगा | 

1qws (2)
Buy online

20 thoughts on “दोस्ती : #BlogchatterA2Z

  1. shwetadave

    Like how you have brought out the importance of Friendship and friends. and how they always stand by and turn even the worst to best, if not, at least stand with you through it all 🙂
    Well written 🙂

    D is Dumbfounded – Love is not my need

    Liked by 1 person

  2. bohut badhiya. Really liked reading your hindi poem. Specially this line ” के हर मोड़ पर मिले नायाब दोस्त, और हर एक में जैसे, वो ख़ुद ही समाया है,. Waah!!
    I discovered your blog today. Expect me everyday from now on.

    Liked by 1 person

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s