राबता : #BlogchatterA2Z

r
Top post on IndiBlogger, the biggest community of Indian Bloggers

R

              ये पंक्तियाँ मैंने अपनी पहली और आख़री प्रेमिका और संजोग से मेरी धर्म पत्नी की शान में कुछ वर्ष पहले लिखी थी | मुझे खुशी है कि ये आज भी उतनी ही रूमानी हैं जितनी उस समय थीं |

ख़यालों   ने   उनके   सताया   है   इस   क़दर,

के  राबता  हो  उनसे, तो  पूछेंगे  ज़रूर,

के तराशा  है  तुम्हें, खुद  उस  ख़ुदा  ने,

या  हो  तुम  परी, या  कोई  हूर |

है  तुमसे  ही  धड़कन  इस  दिल  की,

और  तुम्ही  से  इन  आँखों  का  नूर,

के  मर  ही  मिटा  तुमपर,

तो  इस  दिल  का  क्या  क़सूर |

इस  दिल  ने  ही  दिखाई  अंधेरों  में,

नज़रों  को  राहें  तमाम  हैं,

माना  हुई  है  इससे  ख़ता,

पर  क़ुबूल  हमें  भी  ये  इल्ज़ाम  है |

न  जाने  हुआ  ये  कैसे,

के  एक   ही   झलक  में  दिल-ओ-जान  गवाँ  बैठे,

अजनबी  हुए  ख़ुद  से,  और  उन्हें  भगवान  बना  बैठे |

जादू  चला कुछ  इस  तरह,

के  हम रहे  नहीं  हम,

मिल  जाए  पर उनका   साथ  अगर,

तो ख़ुद को खोने का भी नहीं ग़म |

नज़रों   में  उनकी  छलकती  मेरी  तस्वीर  सा  नशा,

किसी   पैमाने   में  कहाँ,

के  मुहब्बत  की  इस  बेखुदी  सा   मज़ा,

होश  में  आने  में  कहाँ |

बयाँ   कर  पाना   मुम्किन  नहीं,

के  बीते  कैसे  बरसों,  इन  नज़रों  की  तलाश  में,

ज़िंदा  होने  के  इल्ज़ाम  तले,

चल थी  रही  साँसें, ज़िंदगी  की  आस  में |

के  लौ  सी   तपती  धूप  में,

राहत शाम  में  हमने  पाई  है,

गुज़र  गये  झुलस्ते  मंज़र,

के  जीवन  में  शब  लौट  आई  है |

सजदा  करूँ  मैं  पल-पल  उनका,

जो  शख़्सियत  ही  ख़ुदाया  है,

के   याकता  वो  हीर,

जिसने  इस  दिल  को  सजाया  है,

हर पल को महकाया है ||

♥ ♥ ♥                                  doc2poet

ये इस कविता का अंत नहीं, बल्कि इस प्रेम कहानी का आगाज़ है…

अगर आपको मेरी कविताएँ पसन्द आयें तो मेरी पुस्तक “मन-मन्थन : एक काव्य संग्रह” ज़रूर पढ़ें| मुझे आपके प्यार का इन्तेज़ार रहेगा |

1qws (2)
Buy online

जुस्तजू : #BlogchatterA2Z

j

Top post on IndiBlogger, the biggest community of Indian Bloggers

Jयह वो समय था जब मैं लड़कपन के जोश में, बेबाक, बेफिक्र, मदमस्त हाथी की तरह चला जा रहा था | संतुष्ट जीवन की छाँव तले मेरे ह्रदय में बस एक ही आस थी | उन हसीन पलों में हर रंग थोड़ा और रंगीन लगता है, हर चेहरा आफरीन लगता है, इन हवाओं में एक नशा सा घुल जाता है और हर स्वाद तोड़ा और नमकीन लगता है |

इस  दिल  से  उठती  ख़ुश्बू  के  कुछ  कतरे  आपकी नज़र  करता हूँ: 

तकते  थे  राह  उनकी,

इस   कशमकश  में  यूँही  ग़ज़ल  बन  गयी,

के   दिल  में  उठा  एक  ख़याल,

और  मुश्किल  ख़ुद  हल  बन  गयी ||

♥ ♥ ♥                                       doc2poet

वो   कहते   हैं   तू   ख़याल   है   बस,

इस   पागल   दिल   का   फ़ितूर   है   तू,

पर   ज़िंदा   हूँ   मैं, खुद   सुबूत   है   ये ,

के   शायद   कहीं   ज़रूर   है   तू ||

♥ ♥ ♥                                       doc2poet

ढूँढता  हूँ  तुझे  इन  लकीरों  में,

के  तेरी  ख़्वाहिश  बेइंतहाँ  है ,

  बसा  है  तेरा  अक्स  इस  दिल  में,

पर  जाने  तू  कहाँ  है, जाने  तू  कहाँ  है ||

♥ ♥ ♥                                       doc2poet

तेरे   ख़यालों   में   ऐसा   डूबा,

जैसे   वर्षा   घनघोर   हुई,

जाने   कब   बीती   रात ,

और   जाने   कब   भोर   हुई ||

♥ ♥ ♥                                       doc2poet

तेरा  नाम  लबों  से  गुज़रे  अरसा  हुआ,

पर  मुस्कुराहट  अभी  बाकी  है,

कैसे  भुला  दूँ  तुझे  ए  हमनशीं,

के  चाहत  अभी  बाकी  है ||

♥ ♥ ♥                                       doc2poet

ख़्वाब  में  मिलीं  कल नज़रें उनसे,

जाने दो पल में क्या कह गयीं,

हम अंदाज़-ए-बयाँ पर ही मर मिटे,

और बात अधूरी रह गयी ||

♥ ♥ ♥                                       doc2poet

ये  तू  नहीं, तेरी  याद है बस,

अब  कौन इस दिल को समझाए,

तेरी  जुस्तजू ने शायर  किया,

एक  झलक  जाने  क्या कर जाए ||

♥ ♥ ♥                                       doc2poet

अगर आपको मेरी कविताएँ पसन्द आयें तो मेरी पुस्तक “मन-मन्थन : एक काव्य संग्रह” ज़रूर पढ़ें| मुझे आपके प्यार का इन्तेज़ार रहेगा |

1qws (2)
Buy Online

What can poetry do?

DSCF0077

Ever wonder what poetry has done, how it has impacted our history and evolution and what more can poetry achieve…

Poetry can heal,

Deep dark wounds,

And the ones,

That doesn’t squeal,

Poetry can accord peace,

Melt shells around hearts,

Unravel the knots,

And contain this disease,

Poetry can raise concern,

Ignite the minds,

Stare down the blots,

And let them burn,

Poetry makes you celebrate,

Fireworks with words,

Shining with rhymes,

And hearts that vibrate,

Poetry is romance,

Love in its purest form,

Emotions you adorn,

Flying high in trance,

Poetry is woe,

Tears you can’t contain,

The weights and heavy blow,

And the Guilt you can’t tow,

Poetry is wisdom,

Exhilarating insight,

In darkness the light,

The cage and the freedom,

Poetry sets you free,

To limitless skies,

The deepest of dives,

And the count of three,

Poetry is what you are,

It’s what you see,

What you want to be,

The whole life in .rar,

Poetry has no bounds,

It knows no fear,

It’s clear yet nebulous,

And never lost nor found,

Poetry can bring change,

The positivity we need,

The moments we crave,

Even if it sounds strange,

More often it sound strange…

***

Follow the links for more related posts:-)

My First Anthology: #published

Indian Bloggers

DAuZXH5U0AAo8z4

Yay!!

The second edition of Ebook carnival by Blogchatter is here and my first Hindi poetry anthology has been published  on their website. It is a one of its kind initiative by blogchatter team to put together an assortment of all kinds of  Ebooks by bloggers and writers alike. These 33 books will be available for free download on their website for two months. You may download them for free for a soulful reading over the vacations.

Here’s what this book is all about: 

Illusions Of Inner Paint
Download here

“This book is a collection of Hindi couplets, poems, haiku, etc and each composition is a reflection of a virtuous moment from the author’s life. This is not merely an anthology but a journey through the rainbow of the author’s mind. If you love Hindi poetry, this one is for you.”

Follow the link for a peek and I am sure you will love it 🙂   Download here:  मन मन्थन 

I will be posting reviews of three selected books on my blog over the next few weeks. Stay tuned for some fun:-)

Looking forward to your comments, feedback, and reviews. Kindly share with your friends on all social media platforms, I’ll be waiting for you all there.

Online प्यार: #Relationship

Indian Bloggers

The-Worlds-Top-20-Most-Important-Social-Media-Sites-and-Apps-in-2016

#Insta-love


वो  नज़ाकत, वो  इंतज़ार, वो  नज़रों  का  मिलना,

बहका  सा  इज़हार  और  फूलों  का  खिलना,

छिपकर  करना  बातें,

छत  पर  मीठी  मुलाक़ातें download,

वो  अलविदा, वो  कल  के  वादे, वो  लेना  दिल  का  हाल,

खाना  खा  कर, घर  पहुँच  कर, देना  मिस  कॉल ,

के  वो  था  अलग  ही  दौर,

वो  समय  था  कुछ  और,

अब  तो  मिलती  हैं  नज़रें  Profile  pic  profile  से,

और  छूने  का  एहसास  मिलता  है  click   Mouse-pointer-2  से,

के  मुलाक़ातों  पर  लड़ना  हुआ  अब  आम  है,

पर  मिलने  के  fb status  पे…  likes  तमाम  है,

funny-facebook

दो  पल  का  इंतेज़ार  तो  ग़ज़ब  ही  ढा  गया,

के  मिस  कॉल  की  जगह  अब  blue  tick   unnamed आ  गया,

के  अब  छत  पर  नहीं… online  दीदार  होते  हैं,

twitter4  पर  हंसते  हैं  और  skype-logo-open-graph   पर  रोते  हैं,

ये   WIFI  wifi-medium-signal-symbol_318-50381  जेनरेशन  क्या  जाने?  वो  मोहब्बत, वो  एहसास,

के  अब  फोन  नहीं  गर  स्मार्ट, तो  कुछ  नही  है  पास,

के  Transformer   f2cceea180a85d88539cad126a5d9433  के  भेस  में, बैठा  है  जैसे  प्यार  का  फूल,

Online  आकर  पुरानी  बातें…गये  हैं  जैसे  सब  भूल,

गये  हैं  सब  भूल…

***

This post is written for Indispire Edition 128: Technology is destroying relationships. Genuine relationships are subsumed by Facebook and whatsapp… #Relationship.